सस्य विज्ञान क्या है एवं सस्य विज्ञान के मूलभूत सिद्धांत | Agronomy In Hindi

सस्य विज्ञान (agronomy in hindi) कृषि की वह शाखा जिसमें फसल उत्पादन एवं मृदा प्रबन्ध इत्यादि क्रियाओं के सिद्धांतों का अध्ययन किया जाता है ।


अर्थात् भूमि पर उचित क्रियाएं करके उसे फसलों को उगाने योग्य बनाना ही, सस्य विज्ञान (agronomy in hindi) कहलाता है ।


सस्य विज्ञान के जनक कोन है?


सस्य विज्ञान के जनक (Father of Agronomy) 'पीटर डि क्रेसेंजी' को कहा गया है ।


सस्य विज्ञान शब्द का अर्थ (Meaning of agronomy in hindi)


"एग्रोनॉमी" (Agronomy) शब्द ग्रीक भाषा से लिया गया है ।


यह दो भाषा के शब्दों से मिलकर बना है - एग्रोस (Agros), नोमोस (Nomos) ।


यह ग्रीक भाषा के दो शब्दों 'एग्रोस' (Agros) यानि भूमि (Field) तथा 'नोमोस' (Nomos) यानि प्रबंध से मिलकर बना है ।


अर्थात् सस्य विज्ञान का अर्थ होता है, भूमि का प्रबन्ध करके फसल उत्पादन योग्य बनाना ।


ये भी पढ़ें :- 


सस्य विज्ञान क्या है इसकी परिभाषा (defination of agronomy in hindi)

सस्य विज्ञान (agronomy in hindi) क्या है एवं सस्य विज्ञान के मूलभूत सिद्धांत, सस्य विज्ञान के जनक कोन है, सस्य विज्ञान शब्द का अर्थ, Farming Study
सस्य विज्ञान (agronomy in hindi)

ये भी पढ़ें
 :-


सस्य विज्ञान में प्रति इकाई क्षेत्र से एक कृषि वर्ष में भूमि की उर्वरा शक्ति का बिना हास हुए फसलोत्पादन के सिद्धांत क्रिया को अपनाते हुए अधिकतम आर्थिक उत्पादन प्राप्त किया जा सकता है ।


सस्य विज्ञान की परिभाषा - "शस्य विज्ञान कृषि की वह शाखा है, जिसमें मिट्टी, पानी एवं फसलों का प्रबंधन आता है अर्थात् अधिक फसलोत्पादन के लिए उपयुक्त पर्यावरण तैयार किया जाता है ।"


"agronomy is the branch of agriculture that brings in the management of soil, water and crops, that is, suitable environment is created for more crop production."


शस्य विज्ञान द्वारा भूमि प्रबंध, बीज, खाद - उर्वरक, सिंचाई, खरपतवार नियंत्रण, पौध संरक्षण आदि की फसलोत्पादन प्रयोग हेतु वैज्ञानिक जानकारी प्राप्त होती है ।


ये भी पढ़ें :-


सस्य विज्ञान के मूलभूत सिद्धांत (principals of agronomy in hindi)


सस्य विज्ञान (agronomy in hindi) के मूल सिद्धांतों का अध्ययन निम्नलिखित के अंतर्गत किया जाता है -

1. भू-परिष्करण क्रियाएं
2. जल संरक्षण
3. शुष्क खेती
4. जल प्रबंध
5. भूमि प्रबन्ध
6. सिंचाई की विधियां
7. बीज गुणवत्ता
8. बीज की बुवाई का समय
9. फसल के प्रकार
10. कृषि प्रणाली

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

Previous Post Next Post